05/02/2023

शर्मनाक : नरेन्द्र सिंह भंडारी की मूर्ति से छेड़-छाड़ राजनीतिक साजिश और प्रशासन की लापरवाही

Share at

 शर्मनाक : नरेन्द्र सिंह भंडारी की मूर्ति से छेड़-छाड़ राजनीतिक  साजिश और  प्रशासन की लापरवाही

राजेन्द्रअसवाल/केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज़

पोखरी। यहां पूर्व राज्य मंत्री स्व0 नरेन्द्र सिंह भंडारी की मूर्ति पर शरारती तत्वो द्वारा बार-बार छेडछाड किए जाने पर जहां राजनीतिक माहौल गर्मा रहा है वही भाजपा ने कांगेस  पर आरोप लगाते हुए ,राजनीति  करने की बात की है। तथा सुरक्षा व्यवस्था पर भी सवाल उठने लगे है। साथ ही नगर पंचायत द्वारा यहां पर कैमरे की व्यवस्था तक नही है।  जबकि स्टेडियम  में लगी भंडारी की मूर्ति के पास मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट का कोर्ट व और तहसील कार्यालय तथा जूनियर हाईस्कूल स्थापित है। बावजूद एक महापुरुष का बार बार इस तरह से अपमानित किया जा रहा है। 


जनपद चमोली के विकास पुरुष स्व0 नरेन्द्र सिंह भंडारी ने अविभाजित उत्तर प्रदेश मे पर्वतीय विकास राज्य मंत्री के पद पर रह कर जनपद चमोली का चहुंमुखी विकास किया। जिस वजह उन्हे विकास पुरुष के नाम से जाना जाने लगा। सर्व प्रथम स्व0 नरेन्द्र सिंह भंडारी की मूर्ति हिमवन्त कवि चन्द्रकुवंर बर्त्वाल शोध संस्थान के सचिव डॉ 0 योगेन्द्र सिंह बर्त्वाल ने डिग्री कालेज नागनाथ-पोखरी मे स्थापित की थी और डिग्री कालेज का नाम भी चन्द्रकुवंर बर्त्वाल  रखा गया। मूर्ति स्थापित करने के कुछ समय पश्चात किसी  बडी राजनीतिक साजिश के तहत मूर्ति को तुडवाया गया। इसमें एफआईआर दर्ज हुई,  लेकिन राजनीतिक प्रभाव के आगे कार्यवाई असफल रही। 

पोखरी मे नगर पंचायत गठन के बाद विशाल वार्ड के पार्षद जो कि जिला नियोजन समिति के सदस्य भी रहे, विष्णु प्रसाद चमोला ने  पुरातत्व विभाग को मूर्ति लगाने का प्रस्ताव दिया और जिला योजना से चौदह लाख तीस हजार की धनराशि  स्वीकृत करवाकर पुरातत्व विभाग को दी गयी। और यहाँ  आवादी के क्षेत्र मे मूर्ति लगाने के लिए स्थान न मिलने के कारण एक छोर मिनी स्टेडियम के पास भंडारी की मूर्ति स्थापित की गयी। यहां पर अनेको बार मूर्ति पर छेडछाड करते हुए कभी ऑखो पर मास्क बांधा जाता है तो इसबार सोची समझी साजिश के तहत बाजार से स्याही खरीद कर दोनो ऑखो मे डालकर महान पुरुष का अपमान किया गया  है। 


पूर्व पार्षद विष्णु प्रसाद चमोला ने पुलिस अव्यवस्था व नगर पंचायत पर लापरवाही का आरोप लगाया है। उन्होने कहा कि नगर पंचायत यहां पर एक कैमरा लगाती तो शरारती तत्व पकड मे आ जाते। उन्होंने कहा कि विनायकधार तिराहे पर पोखरी-गोपेश्वर सड़क   नरेन्द्र सिंह भंडारी के नाम से लगा था, वह गायब है। वही भाजपा नगर मंडल के अध्यक्ष वीरेंद्र पाल भंडारी, विजयपाल रावत, वीरेंद्र सिंह राणा व राधा रानी रावत ने  कहा कि भाजपा सरकार मे लगायी गयी स्व0 नरेन्द्र सिंह भंडारी की मूर्ति  उपलब्धि को कांग्रेस पचा नही पा रही है, पहले डिग्री कालेज में स्थापित मूर्ति तोडी गयी और अब पोखरी मे स्थापित  मूर्ति पर छेडछाड कर अपमानित व खंडित करने  का प्रयास किया जा रहा है। उन्होने ऐसे तत्वो के खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाई की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed