28/01/2023

उत्तर्सू के ग्रामीणों ने लिया चुनाव बहिष्कार का निर्णय “सड़क नहीं तो वोट भी नहीं”

Share at


उत्तर्सू के ग्रामीणों ने लिया चुनाव बहिष्कार का निर्णय “सड़क नहीं तो वोट भी नहीं”

डैस्क : केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज़

रुद्रप्रयाग। तल्लानागपुर क्षेत्र के उत्तरसू गांव के ग्रामीणों ने “रोड़ नहीं तो वोट भी नहीं” का नारा देते हुए विधानसभा चुनाव बहिष्कार का निर्णय लिया है। ग्रामीणों ने साफ कहा कि सड़क निर्माण का काम शुरू नहीं हुआ तो इस बार ग्रामीण वोट नहीं डालेंगे। 

दरअसल, राज्य योजना में रुद्रप्रयाग-चोपड़ा-डुंगरी-चापड़ मोटरमार्ग से ग्राम उत्तरसू के लिए साढ़े तीन किमी मोटरमार्ग की स्वीकृति मिली है। लेकिन निर्माण कार्य अभी तक शुरू नहीं हुआ है। ग्रामीण जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के चक्कर काटते-काटते थक चुके हैं। 

सड़क के अभाव में ग्रामीणों को प्रतिदिन अपने पीठ पर सामान ढोकर अपने गाँव पहुंचना पड़ता है। शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं का और भी बुरा हाल है। पिछले लंबे समय से उत्तरसू गांव के ग्रामीण मोटर मार्ग की मांग करते आ रहे हैं, लेकिन अभी तक विभाग का ढुलमुल रवैया ही रहा है। उत्तराखंड क्रांति दल के युवा नेता मोहित डिमरी ने कहा कि मोटरमार्ग न होने से छात्रों को इंटरमीडिएट की पढ़ाई के लिए तीन से चार किलोमीटर दूर चोपड़ा जाना पड़ता है। छात्रों को घने जंगल के बीच से होकर गुजरना पड़ता है। ऐसे में हर समय जंगली जानवरों का भी भय बना रहता है। यही नहीं गांव में किसी व्यक्ति के बीमार होने पर उसे सड़क मार्ग तक चारपाई पर ले जाना पड़ता है। सड़क के लिए ग्रामीण कई बार आंदोलन भी कर चुके हैं। लेकिन सरकार के कान में जू तक नहीं रेंग रहा। 

स्थानीय निवासी धर्मेंद्र बिष्ट, जनक बिष्ट, नरेंद्र बिष्ट, दलबीर बिष्ट, नरेंद्र बिष्ट, बलबीर नेगी, यशवंत बिष्ट, प्रमोद नेगी, रविन्द्र नेगी का कहना है कि ग्रामीण पिछले समय से गांव को मोटरमार्ग से जोड़ने की मांग करते आ रहे हैं। सड़क न होने से लोग गांव से पलायन कर रहे हैं। अब ग्रामीणों ने निर्णय लिया है कि विधानसभा चुनाव का पूर्ण रूप से बहिष्कार किया जाएगा। इसके अलावा अब ग्रामीणों के पास विरोध प्रकट करने का दूसरा कोई विकल्प नहीं है। जल्द ही इसका एक अल्टीमेटम भी जिलाधिकारी को दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed