09/02/2023

सडक निर्माण में निम्न गुणवत्तायुक्त कार्य को लेकर ग्रामीणों ने दी आन्दोलन की चेतावनी

Share at


सडक निर्माण में निम्न गुणवत्तायुक्त कार्य को लेकर ग्रामीणों ने दी आन्दोलन की चेतावनी

 नवीन चंदोला/केदारखण्ड एक्सप्रेस

नारायणबगड़।  ग्रामीण क्षेत्रों को सडक की सुविधा से जोडने हेतु सरकार द्वारा लगातर सार्थक प्रयास किया जा रहा है। लेकिन विभाग व ठेकेदार की मिलिभगत से धरातल पर ये योजनाये भ्रष्टाचार की भेट चढ रही है।ऐसा ही नारायणबगड विकास खण्ड के अन्तर्गत निर्मित पीएमजीएसवाई द्वारा निर्माणाधीन मींग -गडकोट हंसकोटी मोटर मार्ग है, जहां विभाग व ठेकेदार की मिलीभगत से निम्न गुणवत्ता युक्त कार्य कराया जा रहा है जबकि नौ माह पूर्व बनाया गया मोटर पुल छतिग्रस्त होने लग गया है। 

वही मोटर मार्ग में हो रही अनियमितताओं के  सम्बन्ध में ग्रामीणों द्वारा विभागीय अधिकारियों व  गडकोट में आयोजित जिलाधिकारी के जनता दरबार में उक्त सम्बन्ध मेें जांच हेतु शिकायती पत्र दिया गया लेकिन इस पर कोई कार्यवाही न होने पर ग्रामीणों में भारी रोस ब्याप्त है । वही वर्तमान में द्वितीय फेज के तहत हो रहे घटिया डामरीकरण को देखते हुऐ ग्रामीणो का सब्र जबाब दे गया व उनके द्वारा डामरीकरण का कार्य रोकते हुऐ व विभाग द्वारा सही कार्य न कराये जाने पर आन्दोलन की चेतावनी दी है  

नारायण बगड विकास खण्ड के अन्तर्गत एक दर्जन से अधिक गांवों को जोडने हेतु वर्ष 2016-17 में  पीएमजीएसवाई के तहत 540.46 लाख की लागत से मींग -गडकोट हंसकोटी मोटर मार्ग 7.20 किमी0 स्वीेकृति मिली ग्रामीण दीपक चन्दोला, त्रिलोक सिंह नेगी, विशन सिंह ने बताया कि  प्रथम फेज से ही विभाग व ठेकेदार की मिलीभगत से मानकों के विपरित कार्य कराया जा रहा है, जहां एक ओर सडक कटिंग के दौरान कोई डम्पिंग जोन न बनाये जाने से सारा मलबा कास्तकारों के खेतों में डाल दिया गया , वही प्रथम फेज में कोई भी वेस्ट वाल का निर्माण नही किया गया, जबकि इस दौरान छतिग्रस्त हुई पेय जल लाईन, सम्पर्क मार्ग व नहर को भी भारी नुकसान पहुचा जिस पर ठेकेदार व विभाग ने कोई कोई कार्यवाही नही की । जबकि ग्राम पंचायत विनायक के  डुगरियाल गॉव में पंचायत भवन जर्जर हो गया वहॉ कई मकान खतरे की जद में आ गये ।  जिसकी शिकायत कई बार विभागीय अधिकारियों व जिलाधिकारी के जनता दरवार में भी की गयी लेकिन कोई कार्यवाही नही हो पायी ।

वही इस मोटर मार्ग पर पन्ती गधेरे में 18 मी0 स्टील गर्डर व्रिज 110.32 लाख की लागत से 01/03/2020 को पूर्ण हुआ लेकिन निम्न गुणवत्ता के कारण इसकी साइड वाल व फ्रट वाल उखडने लग गयी है वही विगत दिनोें भारी बारिष के दौरान पुल के पिलर के नीचे से जमीन खिसकने से पुल की स्थिति जर्जर हो गयी है।

जबकि वर्तमान में उक्त मोटर मार्ग पर ब्रिटकुल द्वारा  द्वितिय फेज का कार्य कराया जा रहा है जिसपर पर डामरीकरण का कार्य किया जा रहा था लेकिन निम्न स्तरिय कार्य कराये जाने पर ग्रामीणों का सब्र जबाब दे गया व उनके द्वारा डामरीकरण का कार्य रोक दिया गया  ग्रामीण दीपेंद्र सिंह मनेषा,प्रकाश सिलोडा,बीरेंद्र सिंह रावत,जगदीश प्रसाद,  ग्राम प्रधान नलिनी मनेषा आदि ने खराब डामरीकरण करने की शिकयत कर कार्य को रोकने की मांग की। उनका कहना है कि सडक पर बिछाए जा रहा डामर हाथों-हाथ उखड़ रहा जा रहा है।

जिस पर ब्रिडकुल के एई दिनेश कुमार ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनी और फिलहाल डामरीकरण कार्य रोकने को संबंधित कार्यदायी संस्था को कहा है। ग्राम प्रधान नलिनी मनेषा ने कहा कि डामरीकरण कार्य किया गया है। वह भर-भराकर जगह-जगह उखड़ जा रहा है तथा ग्रामीणों की दूसरी समस्याओं पर भी बार बार कहने पर भी कोई समाधान नहीं किया जा रहा है।उन्होंने सही कार्य कराये जाने हेतु विभाग से मांग की व आन्दोलन की चेतावनी दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed