09/02/2023

ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों के आंदोलन को समर्थन देने पहुंचे कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता सूरज नेगी

Share at

ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों के आंदोलन को समर्थन देने पहुंचे कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता सूरज नेगी
उत्तराखंड में ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों द्वारा शासन के अपर मुख्य सचिव कृषि उत्पादन आयुक्त आनंद वर्धन के एक आदेश से रोष व्याप्त है जिसके चलते सभी ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों ने कार्य बहिष्कार कर आंदोलन का रास्ता अख्तियार कर दिया है


ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों के कार्य बहिष्कार आंदोलन को समर्थन देने रुद्रप्रयाग विकास भवन पहुंचे उत्तराखंड कांग्रेश के प्रदेश प्रवक्ता सूरज नेगी ने आंदोलित कर्मचारियों को कांग्रेश पार्टी की ओर से समर्थन जारी करते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी जी का सपना था कि ग्राम पंचायतों को सशक्त किया जाए और अधिकार संपन्न बनाया जाए तथा पंचायतों को सशक्त बनाते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में रह रहे लोगों को सभी प्रकार की सुख सुविधाएं मुहैया कराई जाए जिसका जिम्मा वर्तमान में ग्राम पंचायत विकास अधिकारी के कंधों पर रहता है मगर विगत 1 सप्ताह से ग्राम पंचायत विकास अधिकारी द्वारा शासन के एक अफसर के फरमान से भारी रोष बना हुआ है जिसके चलते उत्तराखंड के लगभग 800 ग्राम पंचायत विकास अधिकारी द्वारा कार्य बहिष्कार किया गया है जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में सामान्यतया होने वाली गतिविधियों पर भी विपरीत प्रभाव पड़ा है।


कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि राज्य में भाजपा की सरकार में अफसरशाही बेलगाम है सरकार किसी भी आदेश को जारी करने से पूर्व ये अनुमान नहीं लगा पा रही है कि जारी आदेश से धरातल पर कार्य करने वाले कार्मिकों के भविष्य पर विपरीत प्रभाव पड़ सकता है उन्होंने कहा कि अफसर राज्य में अपनी मनमानी कर रहे हैं जिसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ रहा है नेगी ने कहा कि आखिर शासन के अफसर को इस प्रकार भ्रामक आदेश को जारी करने के निर्देश किसके द्वारा दिए जा रहे हैं और क्यों शासन के अफसर को अपने एक आदेश को वापस लेने के लिए विवश होना पड़ा जो इससे साफ झलकता है शासन जबरदस्ती कर्मचारियों पर अपनी मनमर्जी थोपना चाहता है जिसके चलते कर्मचारियों द्वारा कार्यों का बहिष्कार वह आंदोलन किया जा रहा है इस अवसर पर रुद्रप्रयाग जनपद की ग्राम पंचायत विकास अधिकारी संगठन के समस्त जिला स्तरीय पदाधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे

You may have missed